सुराहियां प्यास बुझा रही हैं..

सुराहियां अपनी प्यास बुझा रही है/बुझाएंगी एक दिन..कुव्वत है तो निकाल लो/लेना अपने हिस्से का पानी.

18.07.2013

Comments